अपराधी को पकड़ने सिविल ड्रेस में पहुंचे पुलिसवाले, ग्रामीणों ने पुलिस कर्मियों को जमकर पीटा, भागकर बचाईं जान



अपराधी को पकड़ने सिविल ड्रेस में पहुंचे पुलिसवाले, ग्रामीणों ने पुलिस कर्मियों जमकर पीटा, भागकर बचाईं जान


झांसी से एक अजीबोगरीब मामला सामने आया है. यहां पर अपराधी को पकड़ने गए तीन पुलिसवालों की ग्रामीणों ने जमकर पिटाई कर दी. इसके बाद अपराधी पुलिस के चंगुल से भागने में कामयाब हो गया. पुलिसवालों में गरौठा थाने एक दारोगा और दो सिपाही थे जो सिविल ड्रेस में गांव में दबिश देने पहुंचे थे. इसके बाद पुलिसवाले दोबारा से वर्दी पहनकर अपनी टीम के साथ आए, लेकिन तब तक अपराधी का कोई पता नहीं चल सका. इस घटना पर पुलिस ने चार ग्रामीणों के खिलाफ नामजद रिपोर्ट दर्ज कर ली है और उनकी तलाश भी की जा रही है.झांसी के थाना ककरबई के हीरापुर गांव में सादे कपड़ों में गरौठा थाने के दारोगा नकुल और दो सिपाही वांछित अपराधी को पकड़ने के लिए दबिश देने पहुंचे थे. 

दारोगा ने सिपाहियों की मदद से अपराधी अंगद को हिरासत में ले लिया. सादे कपड़ों में होने के कारण ग्रामीण पुलिसवालों को पहचान नहीं पाए और उनकी गाड़ी की चाभी निकालकर उन्हें घेर लिया. आक्रोशित ग्रामीणों ने पुलिसवालों की जमकर पिटाई कर दी. इस दौरान अंगद मौका पाकर भागने में कामयाब हो गया.

गुस्साए ग्रामीणों को देख दारोगा और सिपाही अपनी जान बचाकर वहां से भाग निकले और ककरबई पुलिस थाना पहुंचकर मामले की शिकायत दर्ज कराई. इसके बाद गरौठा पुलिस को भी इस घटना की पूरी जानकारी दी गई. कुछ देर बाद ही ककरबई और गरौठा थाने से पुलिस अपनी टीम के साथ हीरापुर गांव पहुंची. लेकिन, उनके आने से पहले ही आरोपी गांव से फरार हो चुके थे.

चार के खिलाफ केस दर्ज

छत्रपाल की तहरीर पर पुलिस ने गांव के ही दृगपाल सिंह, धर्मेंद्र सिंह, अमित कुमार एवं सत्येंद्र कुमार के खिलाफ मारपीट के आरोप में रिपेार्ट दर्ज किया. इस मामले में एसएसपी राजेश एस ने कहा कि आरोपी ग्रामीणों की तलाश जारी है. जिन लोगों ने पुलिस पर हमला किया है, उन्हें जल्द ही गिरफ्तार कर जेल भेजा जाएगा.


ठीक ऐसा ही वाकया बिहार के बेगूसराय में हुआ...

 यहां भी सिविल ड्रेस में हथियार लेकर छापेमारी के लिए जाना  खतरनाक साबित हुआ,  स्पेशल टास्क फोर्स (STF) के दो जवानों को पता चला गया होगा। बेगूसराय जिले के गढ़पुरा में लोगों ने इन्हें पकड़ा तो एक नहीं सुनी। जो सामने पड़ा, पीटता रहा। वह बोलते रहे कि एसटीएफ के जवान हैं, किसी ने नहीं सुना। पीटते-पीटते थक गए, तब गढ़पुरा थाने को किसी ने अपराधियों के पकड़ने की सूचना दी। पुलिस पहुंची तो जवानों को अस्पताल ले गई।

एसटीएफ के दोनों जवान सिविल ड्रेस में किसी अपराधी को पकड़ने के लिए सकरा गांव के पास गए थे, लेकिन उसे नहीं पकड़ सके और खुद पकड़ा गए। स्थानीय लोगों ने बताया कि एक मोटरसाइकिल पर सवार दो लोग यहां पर पहुंचे थे। दोनों के पास हथियार था। अपराध की घटनाओं के कारण परेशान लोगों ने उनकी एक नहीं सुनी और दोनों के पास हथियार देखकर मान लिया कि यह अपराधी किसी बड़े कांड के लिए आए हैं। लोगों ने जमकर पीटना शुरू कर दिया। एक बात नहीं सुनी। बाद में पहुंची गढ़पुरा पुलिस दोनों जवानों को छुड़ाकर ले गई। गढ़पुरा पुलिस ने बताया है कि एसटीएफ जवान को गुप्त सूचना मिली थी कि सकरा गांव में कुछ अपराधी छिपे हैं।



theviralnews.info

Check out latest viral news buzzing on all over internet from across the world. You can read viral stories on theviralnews.info which may give you thrills, information and knowledge.

Post a Comment

Previous Post Next Post

Contact Form